के म अब पनि विदेश नजाऊँ?
रमेश राज बाँस्तोला लिजवन पोर्चुगल