एनआरएन आशाभन्दा निराशा बढी तृष्णा कम वितृष्णा बढी, काम कम राजनीति बढी
रमेश राज बाँस्तोला लिजवन, पोर्चुगल