डाक्टर-ईन्जिनियर बन्ने, किसान किन नबन्ने?